गर्मी की छुट्टी में पहली मेरी अकेले की यात्रा,सिर्फ़ ₹5000 में

गर्मियों में लोग घूमने ठंडी जगह जाते है।मैंने पिछले 2 महीनों के सभी खर्चों को कम किया और आखिरकार घूमने के लिए पर्याप्त पैसे बचा लिए।गर्मियों की जब छुट्टी हुई तो  पहले तो सोचा था कि दोस्तों के साथ जाऊँगा और घूमने पर खर्च करूं, लेकिन फिर मैंने अपनी पहली अकेली यात्रा पर जाने का फैसला किया। मैंने नैनीताल को अपने पहले यात्रा के रूप में चुना, जहाँ 6 दिन बिताने का प्लान बनाया और ₹5000 का बजट तय किया।

यात्रा की शुरुआत गर्मी की छुट्टी में

यात्रा की शुरुआत 6 June 2023 को रात 10:00 बजे कश्मीरी गेट से  दिल्ली से हल्द्वानी के लिए बस बुक किया  जिसकी टिकट लागत ₹350 थी। हल्द्वानी पहुंचकर सुबह 6:00 बजे मैंने मंगल पड़ाव के पास फ्रेंड्स पीजी में चेक-इन किया, जहाँ 3 दिनों का खर्च ₹500 था।

दिन 1: मुक्तेश्वर की यात्रा

पहले दिन, मैंने सुबह 6:00 बजे उठकर  मुक्तेश्वर  की  यात्रा की योजना बनाई, जो हल्द्वानी से 65 किमी दूर है। सुबह 8:00 बजे सीधी बस पकड़ी और मुक्तेश्वर मंदिर, चौली की जाली और वहाँ का स्वादिष्ट राजमा चावल का आनंद लिया। शाम 3:00 बजे वापस हल्द्वानी के लिए बस ली।

दिन 2: भीमताल और नौकुचियाताल की यात्रा

दूसरे दिन, 7 June 2023 को, मैंने भीमताल और नौकुचियाताल की यात्रा की। बस का किराया ₹50 था और भीमताल झील और नौकुचियाताल का ट्रेक किया। स्थानीय खाना, बुन ऑमलेट, का भी लुत्फ उठाया। शाम को साझा टैक्सी से हल्द्वानी लौट आया।

दिन 3: कैंची धाम की यात्रा

तीसरे दिन, सुबह जल्दी उठकर कैंची धाम, नीम करौली बाबा के आश्रम की यात्रा की। बस का किराया ₹65 था। ध्यान के लिए यह एक बेहतरीन जगह थी। दोपहर में बस से वापस हल्द्वानी लौट आया।

नैनीताल की ओर

8 June 2023 को, शाम 3:00 बजे हल्द्वानी से नैनीताल के लिए बस ली जिसका किराया ₹55 था। शाम 7:00 बजे यूथ हॉस्टल तल्लीताल में चेक-इन किया।

दिन 4: हिमालयन व्यू पॉइंट और नैनी हिल का ट्रेक

चौथे दिन, सुबह 6:00 बजे उठकर हिमालयन व्यू पॉइंट और नैनी हिल (चाइना पीक) का ट्रेक किया। नाश्ता हॉस्टल में ₹40 में किया। हिमालयन व्यू पॉइंट से नंदा देवी रेंज, त्रिशूल पीक, नंदा देवी पीक और पंचचुली पीक का अद्भुत दृश्य देखा। नैनी पीक ट्रेक लगभग 3 किमी का था और 2 घंटे में पूरा हुआ। वापस नैनी झील और नैना देवी मंदिर का दौरा किया।

सारांश

यह अकेली यात्रा एक अद्भुत अनुभव थी, जिसमें प्राकृतिक सुंदरता, आध्यात्मिक स्थान और रोमांचक ट्रेक शामिल थे। सब कुछ ₹5000 के बजट में मैनेज करना और भी संतोषजनक था।इस जर्नी से मुझे यह सीखने को मिला कि दुनिया बहुत ही ख़ूबसूरत है और हमने यह दुनिया ज़रूर घूमना चाहिए।

सोलो घूमने में थोड़ा हसल तो होता है लेकिन अकेले लाइफ बीतने का एक बेहतरीन आईडिया भी मिलता है। नैनीताल मेरा पहला ट्रैवल था लेकिन अब मुझे बहुत कुछ समझ में आज्ञा है कि मैं कैसे घूमने का प्लेन बनाऊ और अब मुझे कहाँ कहाँ जहां है।

इस आर्टिकल में बस इतना ही अगले आर्टिकल में मैं अपना दूसरे सफ़र के बारे में शेयर करूँगा और आपको भी बताऊँगा की आप भी कैसे अकेले घूमने जा सकते है। मेरे तरह आप भी एक प्यारी और सुंदर वादियों में अपना समय बीता सकते है। बहुत की कम बजट में मैं आपको घूमना सिखाऊँगा इसलिए हमसे जुड़े रहिए और याद रहे आप अकेले ही सब कुछ कर सकते है।

आपको किसी की ज़रूरत नहीं है। अगर मेरे इस आर्टिकल से आपको कुछ भी अपना सा लगा हो तो एक बार ज़रूर मेरे बनाने और मेरे घूमे हुए तरीक़े से आप भी अपने घर से बाहर निकल कर घूमने जायें। अभी गर्मी बहुत है तो मैं आपको कहूँगा कि आप पहाड़ो में जाये जहां ठण्डक हो और वहाँ नेचर से जुड़े।

Leave a Comment